हार्दिक पटेलको नेपाल काण्ड, हिन्दी न्युजले ठोक्यो- ‘चौकिदार नही ईमानदार बोलो !’

“चौकिदार ढुँडने नेपाल पहुँचे पाटिदार नेता हार्दिक पटेल हार मानकर हिन्दुस्तान लौट अाए है । आज सामको  ट्विट करते हुए उन्हाेंने कहा है –  ‘ढुँडा चौकिदार, मिला तिरस्कार ! केम छु, मजामा ?’ईसको रिट्विट करते हुए एक गोर्खा ने आक्रोश ब्यक्त किया है -‘अरे भाइ, काहेको मोजामा ? जुत्तामा ! जुताके उपर पाईजामा !!’  दुसरा भारतीयने रिप्लाई दिया है -‘आप भारतके पटेल है, नेपालके कट्टेल नहि ! एक बात बोलने से पहले सौ बार सोचो यार !’

पटेल तिनदिन पहले गान्धीनगरसे यह कहकर  गायब हुए थे कि चौकिदार नेपालसे लाएेंगे । रबिबारको जब काठमान्डू उतरे उनकी मुलाकात एक अमेरिकन पर्यटकके साथ हुवा । ‘हार्दिक’ ने जब अपना नाम बताया तो वह अमेरिकन जोरजोरसे हँसने लगा ।

उसकी हँसीसे काठमाण्डुमे चार रेक्टर स्केलका भुचाल आया था । फिर  हार्दिकने नेपाल आनेका मकसद बताया, वह पर्यटक जोरजोरसे रोने लगा । कहा- ‘मिस्टर हार्डिक ! ईन नेपाल, यु क्यान गेट ईमानदार, इज्जतदार एन्ड समझदार नट चौकिदार !’

तीन दिन तीन रात नेपालके काेनें काेनेंमे छान मारा । लेकिन उन्हे  एक भि चौकिदार नहि मिला ! ताे हार्दिक ने नेपाल छोडने से पहले  ट्विट किया – ‘अब मैं हार्दिक नहि, हार-दिक्क बन गया हुँ । सरि नेपाल, फर माई मिस अण्डर्स्ट्याण्डिङ्ग !’

यह समाचार नेपालके जानेमाने अनलाईन ‘गजुरियल डटकम’ ने कभर किया है । अनलाईनका सम्पादक गनोज मजुरेल कहते है – ‘वैसे तो हमारी भाषा नेपाली है । लेकिन हार्दिकाेंकाे यह बात हार्दिकताके साथ पहुँचाना जरुरी था, ईसिलिए उनकी हिन्दीमें लिखा है । वैसे तो नेपाली भाषामें लिखा’का मतलव ‘जुम्राका बच्चा’ होता हैं !”

प्रतिक्रिया दिनुहोस्

श्री गजुरियल गार्डेन प्रा . लि  

© 2018 All Right Reserved Gajureal.com
सूचना विभागमा दर्ता नं. : 906/075-76 || Designed BY appharu.com